चावल दाल की नरम इडली बनाने की विधि | Easy Idli Recipe In Hindi 2023

आजकल भारतीय खाने के खास अंग होने वाले Idli, Poha, Sambar ने विश्वभर में अपनी एक अलग पहचान बना ली है। इस सुंदर और साधारण से लेकर स्वादिष्ट और पौष्टिक Idli Recipe In Hindi आपके साथ साझा करने के लिए आज हम आपके सामने आएं हैं। इडली खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पाचन तंत्र के लिए भी उत्तम होते हैं। यह सिर्फ खास भारतीय तेलुगू और कर्नाटक खाने के नहीं है, बल्कि पूरे देश भर में इडली को बड़े ही शौक से खाया जाता है। तो आइए, जानते हैं कि इस स्वादिष्ट और ताज़ा Idli Recipe In Hindi को घर पर कैसे बनाया जा सकता है।

Introduction – Idli Kya Hai?

Idli एक पारंपरिक दक्षिण भारतीय व्यंजन है जो नाश्ते के रूप में प्रसिद्ध है। यह साधारण और स्वादिष्ट व्यंजन होने के साथ-साथ स्वस्थ भी है। इसकी खासियत यह है कि इसे बनाने के लिए कम सामग्री की आवश्यकता होती है और Idli Recipe In Hindi तैयारी के लिए अधिक समय नहीं लगता। यह एक पौष्टिक और सत्त्विक व्यंजन होता है, जो बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी को आकर्षित करता है।

Idli Recipe In Hindi
Idli Recipe In Hindi

Ingredients For Idli Recipe In Hindi

इस Idli Recipe In Hindi को बनाने के लिए हमें निम्नलिखित सामग्री की आवश्यकता होगी:

  • चावल का आटा: १ कप
  • उड़द दाल: १/२ कप
  • मेथी के दाने – १ छोटी चम्मच
  • पानी: अनुमानित २ कप (बैटर के लिए)
  • नमक: स्वाद के अनुसार
  • तिल – १ छोटी चम्मच
  • सोडा बाइकार्बोनेट: १/२ छोटी चम्मच
  • तेल: इडली मोल्ड चिखाने के लिए

👉Sambar Recipe In Hindi👈

Idli Recipe In Hindi | स्वादिष्ट और पौष्टिक इडली

Step 1. उड़द दाल को धोकर आधा घंटे के लिए पानी में भिगो दें। इसके बाद उसे चावल के आटे के साथ मिला दें।

Step 2. बैटर को फीने और घीले हुए पानी की मदद से गाढ़ा करें। बैटर को एक साथ मिलाने से इडली आसानी से फूलती हैं।

Read More – Sambar Recipe

Step 3. मेथी दाना को धोकर उसे भीगने के लिए एक कटोरी में डालें। मेथी दाना भिगाने से उसका स्वाद बेहतर होता है और आईडली को भी एक अलग खुशबू देता है।

Step 4. बैटर में तिल, नमक और सोडा बाइकार्बोनेट मिलाएं। इससे इडली का स्वाद और सूखापन बढ़ जाता है।

Read MorePasta Recipe

Step 5. अब Idli Recipe In Hindi मोल्ड को तेल से चिखाएं। इससे इडली आसानी से मोल्ड से निकलकर टूटते नहीं हैं।

Step 6. अब बैटर को मोल्ड में डालें और उबलते पानी में १०-१५ मिनट के लिए ढककर पकाएं। ध्यान रखें कि पानी का स्तर बैटर के ऊपर न आए।

Step 7. रात भर गर्म भाप देने के बाद इडली को गरम गरम सर्व करें।

Read MorePav Bhaji Recipe

Step 8. जब इडली तैयार हो जाएं, उन्हें धीरे से मोल्ड से निकालें। उन्हें ठंडा होने दें, और Idli Recipe In Hindi काआनंद उठाएं।

Special Tips For Idli Recipe In Hindi

  • फ़ेरमेंटेशन का समय: इडली बेटर को फ़ेरमेंट होने के लिए इडली के उत्तम स्वाद और सुपरमिटी के लिए ध्यान देना अत्यंत महत्वपूर्ण है। ज्यादा ताजगी में रखने पर बेटर फ़ेरमेंट हो जाता है और ज्यादा समय बिताने पर बेटर बहुत फूलता है। आमतौर पर, बेटर को ६-८ घंटे तक फ़ेरमेंट होने के लिए रखें।
  • सेमिया या तिल के तेल से बर्तन की तैयारी: इडली को निकालने के लिए उपयुक्त बर्तन का चयन करना महत्वपूर्ण है। इसे नॉन-स्टिक इडली प्लेट या सेमिया या तिल के तेल से लगाने से इडली चिपकने से बचती है और नीचे से अच्छे से निकलती हैं।
  • सही आंच पर पकाना: इडली बेटर को ठीक से गाढ़ा करके और उचित तापमान पर पकाने से सुन्दर और फूली हुई इडली मिलती है। इडली का बेटर बहुत पतला है तो इडली फूलने के लिए ज्यादा समय लगेगा, जिससे इडली की सुपरमिटी प्रभावित हो सकती है।
  • पानी का उपयोग: इडली बेटर Idli Recipe In Hindi में तैयार करते समय सावधानी से पानी का उपयोग करें। उपयुक्त मात्रा में पानी मिलाने से बेटर सही ढंग से फ़ेरमेंट होता है और इडली फूलती हैं।
  • इडली को फ्रिज में स्टोर करना: इडली को फ्रिज में स्टोर करके आप उन्हें बारिश के दिनों में या अन्य विशेष मौकों पर तेजी से तैयार कर सकते हैं। इडली को ठंडे पानी में धो कर गरमाएं और चटनी के साथ सर्वनिकर्षित करें।
  • विभिन्न सम्बन्धित इडली सौस का स्वाद: इडली के साथ विभिन्न चटनी और सौस जैसे नारियल चटनी, टमाटर की चटनी, निंबू पुदीने की चटनी और सांभर सर्वनिकर्षक होते हैं। इनसे Idli Recipe In Hindi का स्वाद और आनंद और बढ़ जाता है।

इन टिप्स को ध्यान में रखकर आप एक स्वादिष्ट, सुपरमिटीय और नाश्ते के रूप में परिपूर्ण Idli Recipe In Hindi सकते हैं। इडली को सही तरीके से बनाने से आपको भारतीय खाने का अद्भुत अनुभव मिलेगा!

Video – Idli Recipe In Hindi

FAQs

इडली की प्रमुख सामग्री क्या हैं?

इडली बनाने के लिए प्रमुख सामग्री निम्नलिखित हैं: चावल - २ कप उड़द दाल - १ कप पानी - स्वच्छ और पिया हुआ पानी इडली बेटर बनाने के लिए नमक - स्वाद के अनुसार इन सामग्रियों का उपयोग करके आप स्वादिष्ट और सुपरमिटीय इडली बना सकते हैं। सामग्री को सही मात्रा में और उचित ढंग से उपयोग करना इडली के स्वाद में चर्चा को और बढ़ा देता है।

इटली के घोल में क्या क्या डालते हैं?

Idli Recipe In Hindi के घोल को तैयार करने के लिए निम्नलिखित सामग्री का उपयोग किया जाता है: चावल - २ कप उड़द दाल - १ कप पानी - स्वच्छ पानी इडली बेटर बनाने के लिए नमक - स्वाद के अनुसार इडली के घोल में चावल और उड़द दाल को धोकर भिगो दिया जाता है। भिगोए हुए चावल और उड़द दाल को ब्लेंडर में पीसकर मिलाया जाता है। इसमें पानी और नमक डालकर अच्छी तरह मिक्स किया जाता है ताकि बेटर फ़ेरमेंट हो सके और इडली सुपरमिटीय हों। इस तरीके से तैयार किया गया घोल इडली बनाने के लिए उपयुक्त होता है और स्वादिष्ट इडली बनती है।

इडली को कितनी देर पकाना चाहिए?

इडली को ध्यानपूर्वक पकाने के लिए आपको इडली बेटर को उचित तापमान पर और सही समय तक पकाना चाहिए। आमतौर पर, इडली को १०-१२ मिनट तक धीमी आंच पर पकाना पर्याप्त होता है। पकाने के दौरान इडली फूलनी चाहिए और सुपरमिटीय होनी चाहिए।

Idli Recipe In Hindi का बैटर खट्टा हो जाए तो क्या करें?

कम फ़ेरमेंटेशन समय: अगर बैटर को फ़ेरमेंट होने के लिए उपायुक्त समय नहीं दिया गया है, तो यह खट्टा हो सकता है। समय से पहले फ़ेरमेंट हो जाने पर बैटर खट्टा हो जाता है। इस समस्या को दूर करने के लिए, बैटर को अधिक समय तक फ़ेरमेंट होने के लिए छोड़ें। ठंडे पानी का उपयोग: कभी-कभी ठंडे पानी का उपयोग करके बैटर तैयार किया जाता है, जिससे बैटर फ़ेरमेंट नहीं हो पाता है और वह खट्टा हो जाता है। बैटर तैयार करते समय उचित तापमान के पानी का उपयोग करें। फ़ेरमेंटेशन में बार-बार उखड़ना: अगर बैटर को फ़ेरमेंटेशन के दौरान बार-बार उखड़ जाने दिया जाता है, तो भी बैटर खट्टा हो सकता है। फ़ेरमेंटेशन के दौरान बैटर को छोटे-छोटे झटके नहीं देने चाहिए। यदि बैटर खट्टा हो जाए तो इस समस्या को ठीक करने के लिए नमक की मात्रा बढ़ाकर और थोड़ा सा बेकिंग सोडा डालकर फिर से मिलाएं। इससे बैटर का स्वाद मिट जाएगा और खट्टापन कम होगा। फिर से बैटर को अच्छी तरह मिक्स करके फ़ेरमेंट होने के लिए रखें। इस तरीके से आप खट्टा हुआ बैटर को सुधार सकते हैं और स्वादिष्ट इडली तैयार कर सकते हैं।

इटली खाने से क्या फायदा है?

इडली एक स्वादिष्ट और स्वस्थ भारतीय स्नैक है जिसके खाने से निम्नलिखित फायदे होते हैं: पौष्टिकता से भरपूर: इडली चावल और उड़द दाल के समन्वय से बनती है, जिससे इसमें पौष्टिक गुण होते हैं। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन, और खनिजों की अच्छी मात्रा होती है, जो शरीर के लिए फायदेमंद होती है। आसान पचन: इडली को उबले पानी में बनाया जाता है, जिससे इसमें कम तेल होता है और आसानी से पच जाता है। इडली पाचन को सुधारने में मदद करती है और भोजन के बाद भरीपन का अहसास नहीं होता है। विशेष संस्कृति में महत्वपूर्ण: इडली भारतीय संस्कृति में विशेष महत्व रखती है। इसे सुबह के नाश्ते में खाना भारतीय घरों में एक परंपरा है। लो-कैलोरी: इडली लो-कैलोरी वाला भोजन है जिसमें कम तेल और भारी मसाले नहीं होते हैं। इसलिए वजन घटाने के चाहने वाले लोग भी इसे स्वस्थपूर्ण विकल्प मानते हैं। वेजिटेरियन आहार का स्वादिष्ट विकल्प: इडली एक पूर्णतः शाकाहारी भोजन है जिसमें कोई मांस नहीं होता है। इसलिए शाकाहारी व्यक्ति भी इसे स्वादिष्ट और पौष्टिक विकल्प मानते हैं। भारतीय संस्कृति में अपनेपन का अहसास: इडली भारतीय संस्कृति में एक ऐसी वस्तु है जिसे लोग अपनेपन के साथ बनाकर खाना पसंद करते हैं। इससे लोगों के बीच जुड़ाव बढ़ता है और साथीयों के साथ भोजन का आनंद बढ़ता है। इडली खाने से यहां तक कि इसके बैटर को फ़ेरमेंट होने के दौरान गुट बैक्टीरिया उत्पन्न होते हैं, जो आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाते हैं। इसलिए, इडली खाने से आपको एक स्वास्थ्य और पौष्टिक भोजन का आनंद मिलता है।

इडली बैटर के लिए किस चावल का उपयोग किया जाता है?

Idli Recipe In Hindi बैटर बनाने के लिए सामान्यतः दो तरह के चावल का उपयोग किया जाता है: सोना मसूरी चावल: सोना मसूरी चावल इडली बेटर के लिए एक उत्तम विकल्प है। यह चावल छिलके वाला होता है और इसमें कम मात्रा में प्रोटीन होता है, जिससे बैटर का स्वाद और सुपरमिटी प्रभावित होती है। इडली चावल: खास तौर पर इडली बनाने के लिए उपयुक्त बासमती चावल भी उपयोग किया जाता है। यह चावल इडली बेटर को सुपरमिटी और फूली हुई बनाने में मदद करता है। इन चावलों में से किसी भी एक का उपयोग करके आप स्वादिष्ट और सुपरमिटीय Idli Recipe In Hindi बना सकते हैं। बैटर को सही मात्रा में फ़ेरमेंट होने के लिए सही चावल का चयन करना आवश्यक होता है।

Leave a Comment